फोन ऑपरेटर से शुरू किया 180रु. कमाना, आज 8000कर्मचारी, 900ब्रांच से बनाया 100 करोड़ का कारोबार

फोन ऑपरेटर से शुरू किया 180रु. कमाना, आज 8000कर्मचारी, 900ब्रांच से बनाया 100 करोड़ का कारोबार

.
  • 2018-07-12
  • Tara Chand

.

Thehook desk:  साल 1975 की बात है जब 19 साल के एस.अहमद मीरान ने पहली बार टेलीफोन ऑपरेटर के लिए आवेदन किया था। पहले इंटरव्यू में सेलेक्ट होने के बाद मीरान को 180 रुपये की नौकरी मिली।
तिरुनेलवेली जिले में जन्में मीरान का सपना छोटी उम्र में ही अपने पैरों पर खड़े होने का था। अपने लक्ष्य तक पहुंचने के लिए मीरान ने सही दिशा को चुना। पहले तो उन्होंने ऑपरेटर की नौकरी छोड़ी और फिर ट्रैवल एंजेसी से जुड़ गए। उसके बाद उन्होंने पायनियर कूरियर के साथ काम करने लगे। 1987 में उनकी काबिलियत को देखते हुए सात अन्य लोगों के साथ मीरान ने प्रोफेशनल कूरियर प्राइवेट लिमिटेड की सह-स्थापना हासिल कर ली।
आज मीरान एक स्वामित्व के तहत कूरियर कंपनी के मालिक है। उनके पास 8000 से ज्यादा कर्मचारी और 900 ब्रांच है। कंपनी का सालाना टर्नओवर 100 करोड़ के ऊपर रहता है। मीरान बताते हैं कि हम हर महीने 2 करोड़ की सैलरी कर्मचारियों को देते हैं। मेरे लिए ये बहुत संतुष्टि वाली चीज है कि मैंने इतने लोगों को रोजगार दिया।
जब मैं बी.कॉम की पढ़ाई कर रहा था तब मुझे टेलीफोन ऑपरेटर की जॉब मिली। मेरी जॉब की योग्यता 11वीं क्लास और 80 फीसदी अंक थे। टेलीफोन ऑपरेटर की नौकरी में घंटों के हिसाब से काम होता था, मेरा काम रोजाना 6 घंटे का रहा। एक घंटे के एक रुपये के हिसाब से मैंने हफ्ते में 7 दिन काम किया।
जितने पैसे मिलते थे उनको बचाकर मैंने बिजनेस लगाने में सोचा। जैसे-जैसे सैलरी बढ़ती गई, मेरा बिजनेस चलाने की सोच और गहरी होती गई। फिर 1983 में टेलीफोन ऑपरेटर छोड़ चैन्नई जाकर दूसरी नौकरी पकड़ ली।
मेरान जल्दी ही व्यापार की चाल को समझ गए। यह समय भारत में कूरियर व्यवसाय के शुरुआती दिनों में से था। उन्होंने कूरियर के कवर को बड़े-बड़े क्लाइंट से जोड़ा। उस समय इंडियन बैंक और नाबार्ड दो अहम क्लाइंट थे।
उस समय हमारी सर्विस बड़े शहर दिल्ली,मुंबई, चैन्नई, कोलकाता, कोच्चि, बैंगलुरु और हैदराबाद में रही। उनकी कंपनी ने साल 1993 और 2002 के बीच 15-20 फीसदी की बढ़ोतरी की। उनका मानना है, काम एक मजेदार चीज है और अगर आप किसी को मजेदार तरीके से करते हैं तो लाइफ हमेशा खुश और रिलेक्स बीतती है।

Leave A comment

ट्विटर