130 फुट ऊंचाई के पर्वत पर अकेला रहता है यह शख्स, मौत भी इसका कुछ भी नहीं बिगाड़ सकी..

130 फुट ऊंचाई के पर्वत पर अकेला रहता है यह शख्स, मौत भी इसका कुछ भी नहीं बिगाड़ सकी..

.
  • 2018-03-13
  • Tara Chand

.

THEHOOK DESK: हम सभी किसी कॉलोनी में रहते हैं लेकिन क्या कभी आपने ये सोचा है कि कोई इंसान बहुत ज्यादा ऊंची पहाड़ी पर अकेला रहता हो। ऐसा सोच कर भी आपको हैरानी हो रही है लेकिन ये सच है। 
 
आज हम आपको एक ऐसे शख्स से मिलवाने जा रहे है जो इस चोटी पर अकेले रहते हैं जहा एक समय में इंसान जाने से कतराते थे। जी हां जॉर्जिया के 130 फुट ऊंचा कात्सखी पिलर सदियों तक उजाड़ पड़ा रहा। अब वहां मैक्जिम नामक एक क्रिश्चियन मोंक अकेला रहता है। यह 130 फुट ऊंचा, एकदम सीधा, खंभे जैसा पहाड़ है।
इसके शिखर पर अकेले रहने की कल्पना भी डरावनी लगती है। लेकिन 63 साल का एक व्यक्ति पिछले लगभग 25 साल से यहां रह रहा है। उसका मानना है कि इस खतरनाक दिखने वाले पहाड़ ही चोटी पर रहते हुए वह ईश्वर के और करीब पहुंच गया है।
वह एक क्रिश्चियन मोंक है। उनका नाम है मैक्जिम काव्टारड्जे। मैक्जिम 1993 से इस 130 फुट ऊंचे ‘कात्सखी पिलर’ पर रह रहे हैं। वे वहां अकेले ही रहते हैं और सप्ताह में सिर्फ दो बार नीचे उतरते हैं। नीचे उतरने के लिए 131 फुट की सीढ़ियां हैं।
इसमें मैक्जिम को 20 मिनट लगते हैं। बाकी समय मैक्जिम के फॉलोअर्स उन्हें जरूरत का सामान एक चकरघिन्नी के जरिए पहुंचाते हैं। खंभे की तरह दिखने वाले पहाड़ की चोटी पर एक छोटा-सा कॉटेज है। उसी में एक प्रार्थना कक्ष है।
कुछ प्रीस्ट्स और कुछ परेशान युवा वहां कभी-कभार आकर प्रार्थना करते हैं। मोंक बनने से पहले मैक्जिम क्रेन ऑपरेटर का काम करते थे। वे बताते हैं कि युवावस्था में वे शराब और ड्रग्स के आदी थे।
 

Leave A comment

ट्विटर