वो शख्सियत, जिसकी वजह से 10 हजार की इन्फोसिस आज 2 लाख करोड़ रूपए की बनी, जानिए इनकी कहानी...

वो शख्सियत, जिसकी वजह से 10 हजार की इन्फोसिस आज 2 लाख करोड़ रूपए की बनी, जानिए इनकी कहानी...

.
  • 2018-02-14
  • Tara Chand

.

THEHOOK DESK: इन्फोसिस के सीईओ विशाल सिक्का के पद से इस्तीफा देने के बाद ये कंपनी चर्चा में आ गई है। दुनिया की सबसे बड़ी आईटी कंपनियों में से एक इन्फोसिस को खड़ा करने के पीछे कौन था। 

10 हजार में शुरु हुई इन्फोसिस आज 2लाख करोड़ है। लेकिन इस कंपनी को इस मुकाम पर पहुंचाने वाला कौन है। इसके बारे में शायद आप नहीं जानते होंगे। दुनिया की सबसे बड़ी आईटी कंपनी की शुरुआत सुधा मूर्ति ने अपने दोस्तों के साथ 10 हजार रुपए में की थी। इस शख्सियत ने इसका अस्तित्व कायम किया था। आज हम उनके लाइफ के बारे में बताएंगे, जिससे आप सभी अंजान होंगे। 
सुधा मूर्ति का जन्म 19 अगस्त 1950 को कर्नाटक के शिगगांव में हुआ था। उनके पिता एक सर्जन थे। वो हमेशा पढ़ाई में अव्वल रहीं। जीतना और सबसे आगे रहना उनकी आदत बन गई थी। सुधा ने इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में स्नातक किया वो भी गोल्ड मैडल के साथ, सुधा को तत्कालीन मुख्यमंत्री ने गोल्ड मैडल पहनाया था। इसके बाद सुधा कुलकर्णी ने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस से कंप्यूटर साइंस में मास्टर्स भी गोल्ड मेडल के साथ ही पूरा किया।
सुधा मूर्ति टाटा मोटर्स में पहली महिला इंजीनियर के रूप में नियुक्त की गईं। एक दोस्त के जरिए 1974 में सुधा और नारायणमूर्ति की पहली मुलाकात हुई। इसके बाद दोनों के मुलाकातों के सिलसिले शुरू हुए और दोनों ने एक दूसरे से शादी करने का फैसला लिया।
नारायणमूर्ति और सुधा मूर्ति ने एक सपना देखा और उसे सच करने के लिए सुधा ने अपनी कमाई से जोड़े हुए 10 हजार रूपए नारायणमूर्ति को दे दिए। कुछ दोस्तों के साथ मिलकर साल 1996 में इन्फोसिस की स्थापना की गई और देखते ही देखते मात्र 10 हजार से शुरू की गई कम्पनी अब 2 लाख करोड़ रूपए से ज्यादा की हो चुकी है।
सुधा मूर्ति को आज 67 साल की उम्र में भी पढ़ना और लिखना बहुत पसंद है। अभी तक उन्होंने बहुत सारी किताबें लिखी और प्रकाशित की हैं जिनमें से दो यात्रा वृत्तांत, दो तकनीक किताबें, 6 नावेल और 3 शिक्षा सम्बन्धी किताबें हैं।
 

Leave A comment

ट्विटर