जख्म देने वाला भी वही है, भरने वाला भी वही है..इंसान तो सिर्फ मरहम लगा सकता है...

जख्म देने वाला भी वही है, भरने वाला भी वही है..इंसान तो सिर्फ मरहम लगा सकता है...

.
  • 2018-02-12
  • Tara Chand

.

THEHOOK DESK:रिश्ते में तो हम तुम्हारे बाप लगते हैं, नाम है शहंशाह... यहीं वो डायलॉग था जिसने बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चपन को एक नई पहचान दी। आज बिग बी की फिल्म ‘शहंशाह’को पूरे 30 साल हो गए हैं। 
फिल्म के 30 साल पूरे होने की जानकारी खुद अमिताभ बच्चन ने सोशल मीडिया के जरिए दी है। उन्होंने रविवार को ट्विटर के माध्यम से बताया कि उनकी फिल्म को 30 साल पूरे हो गए। इस ट्वीट में अमिताभ ने फिल्म रिलीज नहीं किए जाने की बात का भी जिक्र किया है।
अमिताभ बच्चन ने ट्विटर पर रविवार को लिखा कि शहंशाह के 30 साल..शानदार समय..एक वक्त आया जब फिल्म की रिलीज की थोड़ी उम्मीद बनी थी। मेरी विश्वसनीयता पर शक था, लेकिन देश के लोग बेहतर जानते थे। फिल्म ने बम्पर ओपनिंग की और सफलता हासिल की। धन्यवाद।
आपको बता दे कि ये एक ऐसा दौर था जब इंडस्ट्री में अमिताभ की पोजिशन अच्छी नहीं थी। उनकी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर कुछ खास कमाल नहीं कर पा रही थीं। उसी दौरान जब शहंशाह रिलीज हुई तो फिल्म को दर्शकों ने काफी पसंद किया। ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट साबित हुई और अमिताभ इस फिल्म के जरिए दर्शकों के चहेते स्टार बन गए।
अमिताभ को इस फिल्म के बाद फिल्म इंडस्ट्री का शहंशाह भी कहा जाने लगा। इस फिल्म के कुछ डायलॉग है जो आज भी लोगों के जुबान पर चढ़े रहते हैं।
जैसे- "जख्म देने वाला भी वही है, भरने वाला भी वही है..इंसान तो सिर्फ मरहम लगा सकता है".. "चांद को अपनी चांदनी साबित करने के लिए चिरागों की शहादत की जरूरत नहीं" .
अमिताभ बॉलीवुड के एक ऐसे एक्टर हैं जिन्हें उनकी शानदार एक्टिंग के लिए जाना जाता है। उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री को अमर अकबर एंथनी, कुली, नसीब, अजूब, डॉन, शोले, दीवार जैसी एक से बढ़कर एक हिट फिल्में दी हैं। वह बहुत जल्द एक्टर ऋषि कपूर के साथ फिल्म 102 नॉट आउट में नजर आने वाले हैं। 
 

Leave A comment

ट्विटर