ईरान में बेटी से शादी कर सकता है पिता, यहां महिलाओं पर थोपे जाते हैं अजीबो-गरीब कानून

ईरान में बेटी से शादी कर सकता है पिता, यहां महिलाओं पर थोपे जाते हैं अजीबो-गरीब कानून

.
  • 2018-02-10
  • Sonam Gupta

.

THE HOOK DESK: आमतौर पर हम यही मानते हैं कि हमारे देश में आज भी महिलाओं के साथ अत्याचार और भेदभाव होता है। लेकिन दुनिया में कई ऐसे कई देश हैं जहां महिलाओं के साथ ऐसा बर्दाव होता है कि आप सोच भी नहीं सकते।

वैसे तो हर कोई यही कहता है कि भारत में महिलाओं के साथ बहुत बुरा व्यवहार किया जाता है। कहीं न कहीं भले ही ये बात सच है लेकिन दुनिया में ऐसे कई देश हैं, जहां महिलाओं को मौलिक अधिकार भी नहीं मिले हैं। इतना ही नहीं उन पर कई तरह बैन भी लगे हुए हैं। खासतौर पर मुस्लिम देशों में महिलाओं की स्थिति बहुत खराब है।  
पश्चिम एशिया में बसा ईरान भी ऐसा ही एक मुस्लिम देश है। जनसंख्या के मामले में ये दुनिया का 18वां देश है। ईरान में आए दिन प्रदर्शन होते रहते हैं। ईरान में महिलाओं की स्थिति भी बेहद खराब है। अब तो यहां महिलाएं अपने हक के लिए आवाज उठाने लगी हैं। इसके बावजूद भी उनके खिलाफ कोई न कोई नया कानून लाया जाता है। ऐसे ही एक कानून के तहत पिता भी अपनी बेटी से शादी कर सकता है। 
आईए जानते हैं कुछ ऐसे ही कानून जो ईरान कि महिलाओं पर जबरदस्ती थोपे जाते हैं...

1. पिता कर सकता है बेटी से शादी 

2013 में ईरान की पार्लियामेंट में एक बिल पास किया गया था। इस बिल के एक क्लॉज में पिता को अपनी गोद ली हुई बेटी से शादी करने की अनुमति दी गई थी। इतना ही नहीं उसमें ये बी दिया हुआ था कि लड़की की उम्र अगर 13 साल या उससे ज्यादा है तो उसकी शादी हो सकती है। जहां आज बाल विवाह पर इतने कड़े नियम लग चुके हैं वहीं ईरान में इस तरह के पाप किए जा रहे हैं लेकिन इन्हें रोकने वाला कोई भी नहीं है।

2. नहीं ले सकती सेल्फी 

पिछले कुछ सालों से ईरानी महिलाएं मेल फुटबॉलर्स के साथ सेल्फी लेकर सोशल मीडिया पर शेयर कर रही थीं। इसी बात को ध्यान में रखते हुए महिलाओं के पुरुष फुटबॉलर्स के साथ सेल्फी लेने पर रोक लगा दी गई। उनके ऐसा करने पर उन्हें कड़ी सजा दी सकती है।

3. महिलाओं का जॉब करना

वैसे तो वहां महिलाओं के जॉब करने पर कोई रोक नहीं है लेकिन इससे जुड़ी एक शर्त भी शामिल है। दरअसल महिलाएं जॉब तभी कर सकती हैं जब उनके पति को इससे कई परेशानी न हो। अगर वो नहीं चाहते हैं कि उनकी पतनियां जॉब करें तो वो महिलाएं बिल्कुल भी उनके खिलाफ जाकर जॉब नहीं कर सकती हैं।

4. साईकिल को कहें न

ईरान में ये फतवा भी जारी किया गया है कि ईरानी महिलाएं पब्लिक प्लेसेस पर साइकिल या बाइक नहीं चला सकती हैं। हालांकि कई महिलाओं का मानना है कि ड्रेस कोड का पालन करने पर उन्हें साइकिल चलाने की अनुमति दी जानी चाहिए।

5. तलाक का अधिकार 

इस्लाम में पुरुषों के साथ ही महिलाओं को भी तलाक देने का अधिकार है। लेकिन ईरान में सिर्फ पुरुषों के पास ही तलाक का अधिकार है। महिलाएं अपनी शादी से नाखुश होने पर भी अपने पति को तलाक नहीं दे सकती हैं। इस तरह की रोक किसी की भी जिंदगी को नर्क बानने के लिए काफी है।

Leave A comment

ट्विटर