अरबपति बाप ने बेटे को घर से निकाला, बोला- जाओ जिंदगी से सीखो

अरबपति बाप ने बेटे को घर से निकाला, बोला- जाओ जिंदगी से सीखो

.
  • 2018-02-07
  • niharika

.

Thehook desk : हर पिता चाहता है कि उसके बेटे को जीवन में कोई दिक्कत ना हो। इसके लिए पिता पैसे कमाता है। बेटे की सारी जरूरतों को पूरा करता है। लेकिन एक अरबपति पिता ऐसा भी है, जिसने अपने बेटे को 7000 रुपए देकर घर से निकाल दिया और बोला कि जाओ जिंदगी जीने का तरीका सीखो। 
 ये कोई और नहीं, बल्कि हीरा व्यापारी सावजी ढोलकिया हैं। साजवी का 6 हजार करोड़ का कारोबार है। लेकिन इसके बावजूद सावजी ने अपने 21 साल के बेटे द्रव्य ढोलकिया को घर से बाहर कर दिया। सावजी ने द्रव को 7 हजार रुपए दिये और हिदायत दी कि वो किसी को भी अपनी पहचान ना बताए। 
 सावजी ने अपने बेटे को जिंदगी का मतलब समझने और अपने पैरों पर खड़ा होने के लिए भेजा। सावजी ने द्रव्य ढोलकिया के सामने तीन शर्त रखी। उनकी पहली शर्त थी कि वो अपनी पहचान किसी को नहीं बताएगा। उनकी दूसरी शर्त थी कि एक हफ्ते से ज्यादा एक जगह रूककर वो काम नहीं करेगा। तीसरी शर्त थी कि दिये गये 7 हजार रुपए का इस्तेमाल सिर्फ आपातकाल में करेगा। यानी कि इन पैसों को वो रोजमर्रा की जिंदगी में इस्तेमाल नहीं करेगा।
पैसों से खेलने वाले द्रव्य को जब पिता ने हाथ में चंद रूपए देकर घर से बाहर कर दिया तो शुरुआती दिनों में उसे काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। हर वक्त वो सोचता था कि ये सबकुछ छोड़कर भाग जाए, लेकिन उसने ऐसा नहीं किया और हालातों को सामना किया।
द्रव्य ने खुद के संघर्ष के लिए कोचि शहर को चुना। जहां उसको और भी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। कोचि में आम तौर पर हिंदी नहीं बोली जाती है। इसलिए द्रव्य को पहचाने की शर्त पूरी करने में कोई ज्यादा दिक्कत नहीं आती। द्रव्य ने कोचि में 4 हजार रुपए की नौकरी की और जीवन में आने वाली मुश्किलों का सामना किया।
सावजी ढोलकिया वो बिजनेसमैन हैं, जिन्होंने दिवाली पर अपने कर्मचारियों को तोहफे में कार, फ्लैट और हीरे-जेवरात दिये हैं। लेकिन अपने बेटे को जिंदगी का सबब सीखने के लिए अकेले भेज दिया।

Leave A comment

ट्विटर