क्या फेवरेट गाने सुनने से आपके भी रोंगटे खड़े हो जाते हैं, जानिए इसके पीछे ये हैं बड़े कराण

क्या फेवरेट गाने सुनने से आपके भी रोंगटे खड़े हो जाते हैं, जानिए इसके पीछे ये हैं बड़े कराण

.
  • 2018-01-14
  • niharika

.

THE HOOK DESK:    Music  तो आप सभी सुनते होंगे कभी अपने मूड को सही करने के लिए तो कभी मूड के हिसाब से अपने पसंदीदा songs सुनकर चिल करते होंगे। लेकिन आपने कभी सोचा है कि अपने पसंदीदा गाने सुनते सुनते आपके रोंगटे खड़े हो जाते है। शायद ही आपने इस बात ध्यान दिया हो। चलिये आज हम इसी चीज पर आपका ध्यान खींचना चाहेंगे।  
सबसे पहले मेरा सवाल है कि क्या music  सुनकर आप चिल करते है, क्या आपको अपने कुछ ऐसे फेवरेट गाने मिल गये है  जिन्हें सुनकर आपके रोंगटे खड़े होते है।   और आप अपना सेल्फ कंट्रोल खो रहे है। और आप मल्टीप्लाई कर रहे है। 
music graduate Matthew के अनुसार इसका वैज्ञानिक नाम फ्रिसन है और ये सबके पास नहीं है। और अगर ये आपके पास है, तो ये आपकी लाइफ का हिस्सा है, जिसका मतलब है कि आपका दिमाग इसके लिए अलग अलग तरीके से काम करता है।साउथ कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय में अध्ययन करने वाले एक रिसर्चर कहते है कि जिन लोगों को म्यूजिक से बड़ी प्रतिक्रिया मिलती है वो लोग उच्चतर अनुशासन के होते है।
मैथ्यूज ने 20 स्टूडेंट का का टेस्ट लिया जिसमें से 10 स्टूडेंट ने कहा कि वो जब कुछ स्पेशिफिक tunes सुनते है तो उनके रोंगटे खड़े हो जाते है। आपको बता दें कि टेस्ट लेने से पहले मैथ्यूज ने सभी प्रतिभागियों के दिमाग स्कैन किया था।  मैथ्यू ने पाया कि गाने सुनते समय जिन लोगों को ठंड लगती है या जिनके रोंगटे खड़े होते है उनकी नसो का सीधे कनेक्शन auditory cortex से होता है।  इमोशनल प्रोसेसिंग सेंटर और प्रीफ्रंटल कॉर्टेक्स' के बीच सबसे ज्यादा नसो का कनेक्शन होता है। और ये उच्चतर आदेश अनुभूति में शामिल होता है।  जैसे- म्यूजिक को सुनना और उसको समझना। 
मैथ्यूज ने आगे तर्क दिया कि फ्रिसन के अनुभव वाले लोग अधिक मजबूत और अधिक तीव्र भावनाओं वाले हो सकते है। वह ऑक्सफ़ोर्ड एकेडमिक में लिखते हैं: कि  इस बात पर विचार विमर्श किया जा रहा है कि दो क्षेत्रों के बीच अधिक फाइबर और बढ़ती हुई योग्यता का अर्थ क्या है।   कि आपके पास दोनों के बीच योग्यता को बढ़ाने का प्रोसेस क्या है। 
मैथ्यू ने अपनी रिसर्च को जारी रखने की योजना बनाई है ताकि फ्रिसन के बारे में अधिक जानकारी का पता लगाया जाए और यह व्यक्ति के दिमाग को कैसे प्रभावित करता है। उन्होंने पाया कि म्यूजिक अपना पार्ट निभाता है, लेकिन इसके संदर्भ में और भी चीजे इससे जुड़ी है।  जब लोग म्जूजिक सुनते है तो वो उस गाने को एक पर्टिकुलर पलों से जोड़ देते है, लोगों से जोड़ते है और पुरानी यादों को उस गाने का हिस्सा बना देते है।  जिससे इसका ऐसा प्रभाव पड़ता है। 
म्यूजिक अक्सर ही सुख की भावना पैदा करता है लेकिन यह कभी कभी नकारात्मक भी हो सकता है, या एड्रेनालाईन से भरा हो सकता है जैसे की हॉरर फिल्में ,जिसका संगीत आपको डरा सकता है जो आपको एक छोर पर खड़ा कर देता है। उच्च नोट्स विकास की प्रतिक्रिया के रूप में आश्चर्य की भावना को प्रेरित करते हैं। वे रोने लगते हैं, और किसी  आने वाले संकट की और संकेत देते है। 
मैथ्यू मानते है कि उनके निष्कर्षों को मानसिक बीमारियों और डिप्रेशन जैसे अवसाद के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। वे कहते हैं, "हर रोज़ चीजों की खुशी का अनुभव करने में ही निराशा का कारण होता है"। "आप भावनाओं को समझने और उसका पता लगाने के लिए एक थेरेपिस्ट के साथ म्यूजिक का उपयोग कर सकते हैं।"

Leave A comment

ट्विटर