30 लोगों का है ये सबसे छोटा देश, यहां ना तो किसी के पास पासपोर्ट है और ना ही कोई करेंसी

30 लोगों का है ये सबसे छोटा देश, यहां ना तो किसी के पास पासपोर्ट है और ना ही कोई करेंसी

.
  • 2018-01-12
  • Tara Chand

.

THEHOOK DESK:वैसे देखा जाए तो दुनिया में 200 से ज्यादा देश हैं। इनमें जहां रूस, चीन और अमेरिका जैसे बड़े देश शामिल हैं, वहीं कुछ इतने छोटे हैं कि ज्यादातर लोगों को उनके अस्तित्व के बारे में जानकारी तक नहीं है। 
 
 आज हम आपको सबसे छोटे देशों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनमें से ज्यादातर के बारे में आपने कभी सुना भी नहीं होगा। 
द रिपब्लिक ऑफ पलाऊ :-
इस देश की गिनती दुनिया के 4 सबसे छोटे देशों में होती है। ये आइलैंड फिलिपींस के ईस्ट में स्थित है। पैसिफिक ओशन में बसे इस छोटे से द्वीप की कुल जनसंख्या 21,347 है। ये देश करीब 300 छोटे-छोटे आइलैंड से बने हैं। वैसे यहां की वाइल्ड लाइफ वैरायटी देख आप हैरान रह जाएंगे।
सेंट कीटस एंड नेविट्स :-
ये दो कैरिबियाई द्वीप 162 स्क्वायर मील के क्षेत्र में फैले हैं। यहां की कुल जनसंख्या करीब 52 हजार है। यहां चीनी के कई इंडस्ट्री हैं। इस जगह का नागरिक बनकर आपकी अच्छी-खासी कमाई हो सकती है। नागरिक बनने के बाद आप यहां जमीन भी खरीद सकते हैं।
न्यूए:-
ओशिनिया में मौजूद ये देश 162.46 स्क्वायर फीट में फैला है। यहां मात्र डेढ़ हजार लोग रहते हैं। वैसे तो ये देश काफी खूबसूरत है, लेकिन पर्यटकों के बीच मशहूर नहीं है। इस वजह से यहां की ज्यादातर इनकम विदेशी देशों की मेहरबानी पर निर्भर करती है। इस देश की राजधानी में मात्र 600 लोग रहते हैं। यहां मात्र एक सुपरमार्केट है, लेकिन एक एयरपोर्ट भी मौजूद है।
प्रिंसिपैलिटी ऑफ हट रीवर :-
46.6 स्क्वायर मील तक फैला ये देश ऑस्ट्रेलिया में है, जहां मात्र 30 लोग रहते हैं। वैसे इसे किसी दूसरे देश ने मान्यता नहीं दी है, लेकिन इसके अपने स्टैम्प, पासपोर्ट और यहां तक की करेंसी भी है।
तुवालु :-
ये देश मात्र 16 स्क्वायर मील में फैला हुआ है। पैसिफिक ओशन में स्थित ये आइलैंड हवाई और ऑस्ट्रेलिया के बीच में बसता है। ये देश ना सिर्फ दुनिया में सबसे छोटा है बल्कि सबसे गरीब भी है। इसे UK से 1978 में आजादी मिली थी। यहां की कुल जनसंख्या 10,959 है।

Leave A comment

ट्विटर