पिता की मौत के बाद मां ने पेश की मिसाल,चाय बेचकर पूरी की 4 बेटियों की पढ़ाई

पिता की मौत के बाद मां ने पेश की मिसाल,चाय बेचकर पूरी की 4 बेटियों की पढ़ाई

..
  • 2018-01-12
  • Madhu sagar

..

THE HOOK : समाज में कुछ लोग ऐसे भी होते है जो मुश्किलों का सामना करते हुए भी हार नहीं मानते। आज हम एक ऐसे ही महिला के बारे में बात करने जा रहे है जो दूसरों के लिए मिसाल कायम कर रही है। 
मीना कुमारी की उम्र 48 साल है। चेहरे पर झुर्रियां और सफेद बाल। पति की मौत के बाद चाय की दुकान से ही चार बेटियों को काबिल बनाने में जुटी हैं। इस संघर्ष को 14 साल हो गए, बेटियां ने भी मां के अरमानों को पूरा करने में कोई कसर नहीं छोड़ी हैं। शिक्षा के साथ पेंटिंग में भी महारथ हासिल कर ली हैं।

मथुरा के घीयामंडी में किराए की दुकान ही मीनाकुमारी के परिवार के लिए रहने का ठिकाना भी है। 14 साल पहले पति नरेंद्र कुमार वर्मा का जब साथ छूटा उस वक्त बड़ी बेटी दुर्गा नौ साल और सबसे छोटी बेटी किरन सिर्फ तीन माह की थी। 
बाजार में चाय बेचकर मीना कुमारी ने अपनी चारों बेटियों को काबिल बनाने की ठानी। आज बड़ी बेटी दुर्गा बीएड कर रही है तो उससे छोटी अन्नू स्नातक की पढ़ाई कर रही है। इन दोनों से छोटी दीपिका इंटर की छात्रा है, उसने हाईस्कूल की परीक्षा 74 प्रतिशत अंकों से उत्तीर्ण की है। दुर्गा और अन्नू पेंटिंग में मतदाता जागरूकता अभियान के दौरान पुरस्कृत भी हो चुकी हैं। 
जीवन के इस मुश्किल दौर में चारों बेटियां मां का सहारा बन रही है। उनकी मुश्किलों में मां के बुढ़ापे का सहारा बन रही है। स्कूल के बाद दीपिका और किरन बाजार में चाय बेचती हैं।  मीना कुमारी का कहना है कि बहुत मुश्किल हो रहा है बच्चियों को पढ़ाना। अब तो छात्रवृत्ति भी नहीं मिल पा रही है, महंगी फीस खाने-पीने का बजट भी बिगाड़ रही है। अब तो ये कुछ बन जाएगी, तभी काम चलेगा। 

Leave A comment

ट्विटर