3500 रुपए में चलता था परिवार, भैंस पर बैठकर करता था रियाज, बन गया भोजपुरी का सुपरस्टार

3500 रुपए में चलता था परिवार, भैंस पर बैठकर करता था रियाज, बन गया भोजपुरी का सुपरस्टार

...
  • 2017-11-24
  • Shashi Kant

...

THE HOOK DESK निरहुआ नाम से फेमस एक्टर दिनेश लाल यादव ने भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में अपनी अलग छाप छोड़ी है। उनके फैंस लाखों में हैं। लेकिन एक गांव के लड़के की एक्टर बनने की कहानी भी बहुत दिलचस्प है। तो चलिए हम आपको बताते है भोजपुर के इस स्टार एक्टर की पूरा कहानी।
दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ गोजीपुर के एक छोटे से गांव टंडवा के रहने वाले हैं। निरहुआ का जन्म टंडवा में 22 मार्च 1979 में हुआ था। उनके पिता का नाम कुमार यादव और मां का नाम चंद्रज्योति यादव है। निरहुआ के परिवार की आर्थिक हालत कोई अच्छी नहीं थी। एक वक्त ऐसा भी था, जब पिता की मासिक आमदनी सिर्फ 3500 रुपए होती थी और इन पैसों से सात लोगों का परिवार चलता था।
पैसों की तंगी के चलते निरहुआ के पिता अपने दोनों बेटों को लेकर कोलकाता चले गए। इस दौरान उनकी पत्नी और तीन बेटियों को गांव में ही रहना पड़ा। कोलकाता में निरहुआ अपने पिता और भाई के साथ एक झोपड़पट्टी में रहते थे। उनके पिता 3500 रुपए कमाते थे।
दिनेश लाल की शुरुआती पढ़ाई-लिखाई भी कोलकात में ही हुई। लेकिन साल 1997 में उनको गांव लौटना पड़ा। इसके बाद उन्होंने मलिकपुरा कॉलेज से बीकॉम किया। निरहुआ के पिता चाहते थे कि वो कोई अच्छी सी नौकरी कर ले। लेकिन निरहुआ को कुछ और ही पसंद था। इस दौरान निरहुआ अपने चचेरे भाई बिरहा गायक विजय लाल यादव से प्रभावित हुए और उनके जैसा बनने की ख्वाहिश लेकर सिंगिंग की फिल्ड में कदम रखा। निरहुआ को बचपन से गीत-संगीत का शौक था। वो कभी रियाज करना नहीं भूलते थे। भैंस चराते वक्त भी उनकी पीठ पर बैठकर गाना गाते थे।
इसी दौरान साल 2000 में निरहुआ की शादी मंशा नाम की लड़की से हो गई। उनके दो बेटे भी हैं, जिनका नाम आदित्य और अमित है। दोनों मुंबई में रहते हैं। शुरुआती दिनों में निरहुआ को काफी संघर्ष करना पड़ा था। उनके पास साइकिल तक नहीं थी। कहीं आने-जाने के लिए पैदल सफर तय करना पड़ता था।
साल 2003 निरहुआ के लिए लकी साबित हुआ। इस साल उनका पहला म्यूजिक एलबम ‘निरहुआ सटल रहे’ रिलीज हुआ। यह एलबम सुपरहिट साबित हुआ। इसके बाद निरहुआ स्टार बन गए। निरहुआ ने इसके बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा। इससे पहले साल 2001 में दो म्यूजिक एलबम ‘बुढ़वा में दम बा’ और ‘मलाई खाए बुढ़वा’ रिलीज हुई थी।
साल 2005 में दिनेश लाल मुंबई चले गए। उन्होंने फिल्म ‘चलता मुसाफिर...’ में दो गाने गाए। इसके बाद एक्टिंग में भी हाथ अजमाए। इस फिल्म में निरहुआ ने छैला बिहारी के दोस्त का किरदार निभाया और फिल्म हिट रही। साल 2009 में उनकी हीरो के तौर पर ‘सात सहेलियां’ रिलीज हुई। इसके बाद निरहुआ की लोकप्रियता बढ़ती गई। आज निरहुआ यूपी, बिहार, झारखंड और मध्य प्रदेश में फेमस हैं।
निरहुआ के नाम एक साल में 5 हिट भोजपुरी फिल्में देने का रिकॉर्ड है। इसमें पटना से पाकिस्तान, निरहुआ रिक्शावाला-2, जिगरवाला, राजाबाबू और गुलामी शामिल है। साल 2012 में निरहुआ ने बिग बॉस में भी एंट्री की थी। दिनेश लाल यादव की फिल्म ‘निरहुआ हिंदुस्तानी’ को बीआईएफए 2015 का बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड मिला है। दिनेश लाल ने अमिताभ बच्चन के साथ फिल्म ‘गंगा देवी’ में काम किया है। साल 2016 में भोजपुर फिल्म में योगदान के लिए यूपी सरकार ने भारती सम्मान से नवाजा था।

Leave A comment

ट्विटर