Antarctica में हुआ 80 हजार किमी का छेद, पृथ्वी के लिए ये चिंता का विषय है

Antarctica में हुआ 80 हजार किमी का छेद, पृथ्वी के लिए ये चिंता का विषय है

.
  • 2017-10-13
  • Monika Singh

.

THEHOOK DESK: जरा सोचिए 80,077 वर्ग किलोमीटर के दायरे में धरती पर कोई छेद हो जाए तो? इस छेद में पूरा का पूरा एक शहर ही समा जाएगा। ऐसा ही एक छेद हुआ है, लेकिन ये छेद धरती के किसी ऐसे क्षेत्र में नहीं हुआ, जहां लोग रहते हों। ये छेद Antarctica में हुआ है। 
Antarctica के Weddell Sea के बीच में पिछले महीने एक बड़ा सा छेद देखा गया है। ये छेद Antarctica के समुद्री तट से काफी अंदर है। University of Toronto के Kent Moore का कहना है, 'ये Ice Edge से सैंकड़ों किलोमीटर अंदर बना है, अगर Satellite Image नहीं होती तो हमें इस छेद के बारे में कभी पता ही नहीं चलता।'
इस तरह के छेद को Polynya कहते हैं। Polynya यानि कि एक ऐसा क्षेत्र जो बर्फीले पानी से घिरा हो। Polynya को सबसे पहले 1970s में देखा गया था। लेकिन Antarctica में अब जिस Polynya को देखा गया है, वो 70 के दशक के Polynya से 5 गुना बड़ा है।
वैज्ञानिक फिलहाल इस छेद के कारण का पता लगा रहे हैं। ये लंदन शहर से 50 गुना बड़ा है। ये छेद Tasmania देश जितना बड़ा है। Tasmania का आकार, 68,401 वर्ग किलोमीटर है।
जहां एक तरफ इस छेद के कारण का पता लगाने के लिए वैज्ञानिक शोध चल रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ कुछ लोग तो ये भी कह रहे हैं कि ये एलियन्स का काम है। लये सच्चाई से मुंह छिपाने का एक तरीका भी है ताकि हम खुद को निर्दोष साबित कर सकें। 

Leave A comment

ट्विटर