पहले लड़कियों को शॉर्ट्स में देखने की इच्छा, फिर महिला शौचालय में घुसना, हे भगवान! रक्षा करना

पहले लड़कियों को शॉर्ट्स में देखने की इच्छा, फिर महिला शौचालय में घुसना, हे भगवान! रक्षा करना

...
  • 2017-10-12
  • Shashi Kant

...

THE HOOK DESK कांग्रेस उपाध्यक्ष इन दिनों गुजरात दौरे पर हैं। इस दौरान जब वो छोटापुर में थे तो एक घटना घटी। राहुल गांधी महिला शौचालय में घुस गए। दरअसल शौचालय के बाहर कोई साइन बोर्ड नहीं लगा था। हालांकि शौचालय के बाहर एक पोस्टर चिपका था, जिसपर गुजराती में लिखा था कि महिला माटे शौचालय। बताया जा रहा है कि गुजराती पोस्टर को राहुल गांधी समझ नहीं पाए और महिला शौचायल में घुस गए।
लेकिन तब तक राहुल गांधी की तस्वीर कैमरे में कैद हो चुकी थी। इसको लेकर सोशल मीडिया पर खूब चर्चा हो रही है। समर्थन इसे महज एक गलती बता रहे हैं, लेकिन विरोधी हमले का मौका कैसे चूक सकते हैं। विरोधियों ने राहुल गांधी पर खूब कटाक्ष किया। हैशटेग #congresslowmentality ट्रेंड हो रहा है।
एक यूजर ने लिखा कि राहुल गांधी नेता कम और फैशन डिजाइनर ज्यादा लगते हैं। पहले मोदीजी का सूट, फिर फटा कुर्ता और फिर आरएसएस वीमेन विंग के शॉट्स्।
एक यूजर ने लिखा कि जिस पार्टी के वरिष्ठ नेता महिला को टंच माल बोलते हैं, उनसे और क्या उम्मीद की जा सकती है।
गुजरात दौरे के दौरान गलती से राहुल गांधी महिला शौचालय में घुस गए थे। इसपर एक यूजर ने कटाक्ष किया है। उसने लिखा है कि राहुल गांधी कितने बेवकूफ और बेशर्म हैं, इसका सबूत उन्होंने महिला शौचालय में जाकर खुद दे दिया।
एक यूजर ने लिखा कि बुद्धि जब हड़ताल पर जाती है तो जुबान ओवर टाइम काम करती है।
एक यूजर ने फोटो शेयर की है और लिखा है कि राहुल गांधी ये है महिलाओं का सशक्तिकरण। आरएसएस महिलाओं को आत्मरक्षा सीखाता है।
एक यूजर ने बीजेपी पर कटाक्ष किया और सांसद साक्षी महाराज की तस्वीर पोस्ट की, जिसमें उनके सामने एक महिला की जींस खोली जा रही है। यूजर ने लिखा कि उस हिंदुत्व लीडर पर गर्व हो रहा है कि  जिन्होंने उच्च विचार प्रस्तुत करते हुए लड़की से उतारने की बात कही। क्योंकि यह हमारी संस्कृति के खिलाफ है।
एक यूजर ने राहुल गाधी पर कटाक्ष किया और लिखा कि जिस पार्टी की सोच विकास को पागल बताने से शुरू होती हो, उसका मानसिक स्तर लगता है कुंठित हो, पाताल से भी नीचे पहुंच चुका है।
एक यूजर ने लिखा कि राहुल गांधी ने लड़कियों पर अभद्र भाषा का प्रयोग करना, ये साबित करता है कि बच्चे की परवरिश में संस्कार होना आवश्यक है।
एक यूजर ने लिखा कि पहले लड़कियों को शॉर्ट में देखने की इच्छा, फिर महिला शौचालय में घुसना, हे भगवान! इस पप्पू से महिलाओं की रक्षा करना।

Leave A comment

ट्विटर