हंगरी की कैमरावुमैन ने बॉर्डर पर शरणार्थियों को मारी लात

हंगरी की कैमरावुमैन ने बॉर्डर पर शरणार्थियों को मारी लात

.
  • 2017-09-13
  • Ritesh Kumar

.

THE HOOK DESK  : हंगेरी-सर्बियाई सीमा पर एक अजीब सी घटना देखने को मिली जिसमें एक हंगरी की कैमरावुमैन ने सीरियाई शरणार्थियों में से एक बच्ची को पैरों से मारा।
दरअसल पूरा मामला ऐसा है कि हंगेरी-सर्बियाई सीमा पर सीरियाई शरणार्थी (रिफ्यूजी) बॉर्टर को क्रॉस कर रहे थे उसी वक्त जब पुलिस ने लोगों को इसकी अनुमती दे दी उसके बाद लोग दौड़ने लगे जिस क्रम में कैमरावुमैन ने एक बच्ची को अपने पैरों से लात मार दी।  इस हरकत को अन्य चैनल वालों ने भी रिकॉर्ड कर लिया जिसके बाद उस महिला को कोर्ट में दोषी ठहराते हुए तीन साल के लिए परिवीक्षा पर रखा गया है।
सितंबर 2015 में पेट्रा लैस्ज़लो नाम की कैमरावुमैन सीरियाई बॉर्डर पर शरणार्थियों को फिल्माने गई थी। वहां कैमरावुमैन एक सीरियाई पिता जो अपने रोते हुए बच्चे को फिल्मा रही थी। इतने में पुलिस ने सभी शरणार्थियों को बॉर्डर क्रॉस करने की अनुमती दे दी जिसके बाद लोगों की भीड़ बटर्डर पार करने के लिए दौड़ लगाने लगी। इसी बीच कैमरावुमैन को कुछ लोग धक्का देकर भागने लगे और फिर एक शरणार्थी बच्ची भी भागते हुए आई और फिर लैस्ज़लो ने उसे अपने पैरों से लात मार दी।
कैमरावुमैन लैस्ज़लो ने अपने इस कार्य के लिए मांफी भी मांग चुकी है और अपने ऊपर लगे नस्लवाद के आरोपों से इनकार किया है। साथ ही उसने अदालत में कहा कि जब सारे शरणार्थी सीमा पार कर रहे थे तो कई सौ लोग दौड़ रहे थे इस बीच मुझे भी कई लोगों ने धक्का दिया जिस वजह से मैं डर गई थी और मुझे लगा कि मुझ पर भी अटैक हो सकता है जिस वजह से मैंने अपने बचाव में लात मारी। उस वक्त का दृश्य काफी अविश्वसनीय रूप से भयावह था। 
लेकिन न्यायाधीश इल्स नानासी लैस्ज़लो के व्यवहार करने के तरीके को सही नहीं माना और उसके द्वारा बचाव करने की कोशिश के दावों को खारिज कर दिया। कोर्ट ने कहा कि यह सामाजीक मानदंडों के लिए सही नहीं है। महिला ने अपने बचाव में बहुत कुछ कहा लेकिन कोर्र्ट में उसकी एक न चली। 
आपको बता दें कि लगभग 400,000 शरणार्थी और प्रवासी साल 2015 में हंगेरी बॉर्डर क्रॉस करके आए थे। हंगरी के प्रधानमंत्री विक्टर ओरबान उस्तरा ने हंगरी के दक्षिणी सीमा के साथ तार वाले बाड़ लगाने का आदेश दिया और अवैध रूप से सीमा क्रॉसिंगों को रोकने के लिए कानून व्यवस्था कड़ी कर दी तब से ऐसा होने लगा।
वीडियो फुटेज में साफ दिखाई दे कहा है कि कैसे कैमरावुमेन ने एक बच्ची को अपन पैरों से मार कर गिराने की कोशिश कर रही है। एक अन्य कैमरे में फिल्माया गया एक और क्लिप सामने आया जिसमें एक युवा महिला को कैमरावुमैन लात मार रही है। इस वीडियो फुटेज को देखते हुए जिस चैनल के लिए महिला काम करती थी उसपर एक प्लेट चलाई गई जिसमें चैनल ने माना कि हमारी कैमरावुमेन ने गलती की है।
इस फुटेज को देख कर कई लोगों ने इसे शेयर भी किया और एक फेसबुक पेज बना कर उसे शेमलेस भी बताया। कैमरावुमैन को तत्काल प्रभाव से अपने काम से निकाल दिया गया है। 
आप भी देखिए इस वीडियो को- 

Leave A comment

ट्विटर