भारत को जापान से मिलेगी 10 हजार करोड़ रुपए की ताकत, उड़ने के साथ तैर भी सकता है ये एयरक्राफ्ट

भारत को जापान से मिलेगी 10 हजार करोड़ रुपए की ताकत, उड़ने के साथ तैर भी सकता है ये एयरक्राफ्ट

.
  • 2017-09-13
  • Ritesh Kumar

.

THE HOOK DESK : जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे बुधवार को दो दिन के भारत दौरे पर अहमदाबाद पहुंचे। नरेंद्र मोदी ने एयरपोर्ट पर उनकी अगवानी की। शिंजो का यह दौरा काफी खास है, क्योंकि भारत-जापान के बीच डिफेंस, ऑटोमोबाइल, ट्रांसपोर्ट जैसे सेक्टर में कई डील होने जा रही हैं। 
इसमें सबसे खास जापान का यूएस-2 एम्फिबियस एयरक्राफ्ट है, जिसे लेकर दोनों देशों के बीच करीब तीन सालों से बात होती आ रही है। हालांकि, पहले यह डील इसकी ज्यादा कीमत को लेकर नहीं हो पाई थी, लेकिन अब जापान भारत को कम कीमत पर 12 एयरक्राफ्ट बेचने पर तैयार हो गया है। 
इस डील की कीमत 10 हजार करोड़ रुपए के आसपास है। क्या है एम्फिबियस एयरक्राफ्ट की खासियत...
यूएस-2 एम्फिबियस दुनिया का एकमात्र ऐसा एम्फिबियस विमान है जो पानी और हवा में आसानी से टेक ऑफ और लैंडिंग कर सकता है।
यह विमान अशांत समुद्र में भी उतर सकता है और इसमें लंबी दूरी के असैन्य व सैन्य एप्लीकेशंस हैं। 
यूएस-2 सबसे मजबूत विमानों में से एक है। 30-38 किलोमीटर प्रति घंटे की विंड स्पीड पर इसे समुद्र के साथ-साथ नदियों और झीलों पर भी ऑपरेट किया जा सकता है। 
करीब 30 लोगों और 18 टन भार के साथ यह एक बार में 4,500 किलोमीटर तक की उड़ान भर सकता है।
इस एयरक्राफ्ट में चार टबोर्ं इंजन है और इसका प्रयोग सर्च एंड रेस्क्यू ऑपरेशन में होता है।  इंडियन नेवी के अलावा कोस्ट गार्ड भी इस एयरक्राफ्ट को ऑपरेट करेगी। जंग के हालात में एयरक्राफ्ट एक साथ 30 जवानों को कैरी कर सकता है।
एयरक्राफ्ट पर एक नजर
लंबाई : 33.46 मीटर, ऊंचाई : 9.8 मीटर, विंगस्पॉन : 33.15 मीटर, विंग एरिया : 135.8 मीटर, मैग्जिमम स्पीड - 560 किमी प्रति घंटा।

Leave A comment

ट्विटर