जब पुरुषों के मैच में महिला रेफरी होगी तो ऐसा ही होता है

जब पुरुषों के मैच में महिला रेफरी होगी तो ऐसा ही होता है

THE HOOK DESK: अर्जेंटीना की रग्बी टीम के एक प्लेयर पर जानबूझ कर महिला रेफरी को धक्का मारकर ऊपर कूद जाने पर 3 साल का बैन लग गया है। फुटबॉलर ब्रूनो आंद्रेस ने महिला रेफरी मारिया बेटराइस को चोट पहुंचाने के लिए ये हरकत की थी।
  • 2016-12-17
  • Ruby Sarta

THE HOOK DESK: अर्जेंटीना की रग्बी टीम के एक प्लेयर पर जानबूझ कर महिला रेफरी को धक्का मारकर ऊपर कूद जाने पर 3 साल का बैन लग गया है। फुटबॉलर ब्रूनो आंद्रेस ने महिला रेफरी मारिया बेटराइस को चोट पहुंचाने के लिए ये हरकत की थी।

हालांकि ये पहला मौका नहीं है जब ऐसा हुआ हो, इटली के एक फुटबॉलर पर ऐसी ही हरकत के लिए लाइफ टाइम बैन लग चुका है। शुरुआत से ही मैन्स के मैचों में वुमन रेफरी के साथ विवादित घटनाए होती रही हैं। कई बार खूबसूरत फुटबॉल रेफरी शारीरिक छेड़छाड़ का भी शिकार हुई हैं।
सिर्फ फुटबॉल ही नहीं रग्बी, बास्केटबॉल जैसे गेम्स में भी मेल प्लेयर्स जानबूझकर महिला रेफरी से भिड़ते रहें हैं। इसके बावजूद इनकी सुरक्षा के लिए कोई खास नियम नहीं है। और तो और फुटबॉलर्स द्वारा फीमेल रेफरी को मेल रेफरी की तरह गालियां दी जाती हैं। कई बार मैचों में रेफरी को जबरन छूने और छेड़छाड़ की घटनाएं भी सामने आई हैं। ऐसी घटनाओं के बावजूद महिला रेफरियों की तादाद में जमकर इजाफा हुआ।
FIFA के अंतर्गत प्रोफेशनल मैचों के लिए 720 महिला रेफरी रजिस्टर्ड हैं। इसके अलावा ऑफ द फील्ड 324 मेन रेफरी और 396 महिला असिस्टेंट भी हैं। ज्यादातर महिला रेफरियों ने कहा कि उन्हें सबसे ज्यादा मैन टीम के प्लेयर्स द्वारा घर जाकर किचन संभालने की बातें सुनने मिलती हैं। वहीं शुरुआती दौर में महिला रेफरी सेक्सिम का भी शिकार रही हैं।

Leave A comment

ट्विटर